Getting Image
Please Wait...
Login
Register now for special offers
+91

Home

>

Hindi

>

कक्षा 12

>

Maths

>

Chapter

>

Mathematics (Dpp No-65)

>

यदि a,b,c, गुणोत्तर श्रेढ़ी के ...

Updated On: 27-06-2022

UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

लिखित उत्तर

गुणोत्तर श्रेढ़ी का कोई पद पूर्णांक का वर्ग नहीं है। a,b,c का समान्तर माध्य 5 है। `b=pm6`गुणोत्तर श्रेढ़ी का सार्वनुपात 2 है।

Answer : A::B

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

देखिए प्रश्न यदि एबीसी गुणोत्तर श्रेणी के प्रथम तीन पद है तथा ए और बी का हरात्मक माध्य 20 है तथा बी और सी का समांतर माध्य 5 है तब 4V कर दिए हैं इनमें से बताना है कौन सा विकल्प सही होगा ठीक है देखिए सिम कैसे चालू करेंगे यहां पर हमें यह क्या दिया वह गुणोत्तर श्रेणी के प्रथम 3 पदों यदि हम लिखे गुणोत्तर श्रेणी के प्रथम तीन पद यह हमें क्या दिया उसी पर देखे हम जानते गुणोत्तर श्रेणी एनवा पद क्या होता है बीएन यदि कोई हमारे पास b1 B2 इस तरह से यदि हमारे पास कोई गुणोत्तर श्रेणी है ठीक है तो इसका एनवा पद का सूत्र क्या होता है बी 1 गुना की घात 3 - 1 ठीक है तो यहां सब क्या लिख सकते हैं गुणोत्तर श्रेणी के मानव पहला पति है तो दूसरा वर्ड क्या होगा एक और तीसरा पद क्या हुआ एक बार दिखा दो ठीक है तो यह हमारे पास 3 पद होंगे यदि हम मान लेते हैं कि गुणोत्तर श्रेणी का प्रथम पद यह है तो दूसरा पर क्या हुआ 1 गुना 30 रावत क्या वैगनआर की घात दो ठीक है

अमित भाई और बिका हरात्मक माध्य के बीच है तो यहां पर हमने क्या माने देखो यह हमारे पास ही है अभी हमारे पास ईयर है पहले हम देख लेते हैं क्योंकि हमें देविका हरात्मक माध्य दिया वह भी ठीक है अब यहां पर हम क्या करते हैं और बीके हरात्मक माध्य के लिए सूत्र लगा देते हैं तो क्या लिखेंगे दोगुना एबी बर्थडे ए प्लस बी और बराबर यह हमें दिया है 20 के बराबर बी का समांतर माध्य दिवशी का समांतर माध्य क्या है पांच दिया वह तो यहां पर भी लिखेंगे बीवी का समांतर माध्य दिया पांच अभी वशी का समांतर माध्य कैसे लिखेंगे बी प्लस सी बटे दो और इसका मान हमें दिया है पांच के बराबर ठीक है तो देखिए इन दोनों समीकरणों से हम क्या लिख सकते हैं सबसे पहले इसमें लिखते मान क्योंकि हमारे पास पहला पद के यह हमारे पास दूसरा पद भी हमारे पास के ईयर तो यहां पर यदि मान लिखिए तो क्या लिखेंगे इसको समीकरण एक मान लेते हैं हम

ठीक है इसको हम समीकरण दो मान लेते हैं समीकरण एक में मान रखते हैं तो क्या लिखेंगे 2 गुना 1 गुना बी का मान क्या रखेंगे * 8 बटा 1 प्लस क्योंकि अभी हमने देखा मानना यदि पहला पति है तो दूसरा पर क्या होगा यार तू भी कमाल यार तीसरा पद क्यों जगह एक अनार खिला दो तुसी कमाल एक बार की काट दो इसे यहां पर चल कर लेते हैं बराबर में दिया हुआ 20 तो यहां से क्या जगह दोगुना एक ही घाट दोगुना और भट्टी एको को मलिक लिखेंगे तो 1 प्लस 4 बराबर 20 ठीक है या फिर यहां से 2 गुना 1 गुना 8 बटा 1 प्लस 4 बराबर 20 इसी तरह से यहां पर मान लिखेंगे तो भी हमारे पास 179 हमारे पास एक अनार की घात 2 बटा 2 बराबर 5 यहां पर एक उन आंखों को मलिक लिखेंगे तो 1 प्लस 4 बटा 2 बराबर 5 या फिर 1 गुना 8 गुना 1 प्लस 4 बराबर 10 और देखे यहां पर यदि उसको थोड़ा

और सही करें तो क्या लिख सकते हैं 1 गुना 8 बटा 1 प्लस 8 बराबर 10 ठीक है तो यहां से ई आर का मान लिखिए तो क्या लिखेंगे 1 गुना 8 बराबर 10 गुना 1 प्लस आर ठीक है तो देखे यहां से यार कमाल यहां पर रख देते इस समीकरण में तो इसे सरल कर लेते हैं यार कमान क्या रखेंगे 10 गुना 1 प्लस और फिर यहां पर है 1 प्लस 8 बराबर 10:00 यहां से देखो 10 से 10 तो कैंसिल हो जाएगा यह जगह 1 प्लस 4 का वर्ग बराबर एक तो अब इसे सरल कर लेते हैं हमारे पास क्या रहा है यहां से 1 प्लस 4 का वर्ग बराबर एक तो इसका मतलब 1 प्लस 8 बराबर किया जाएगा प्लस माइनस रूट 1 या फिर यहां से लिख सकते हैं 1 प्लस 4 बराबर प्लस माइनस 1 तो हमारे पास यहां से क्या माने संभव एक तो 1 प्लस 4 बराबर प्लस का एक और एक एक प्लस आर का अपमान - का एक एक प्लस 4 बराबर 1 है तो यहां से तो आर बराबर जीरो और यदि 1 प्लस 4 बराबर -12

यहां से आर = - तो ठीक है अब आर्का मंजूर हो तो हो नहीं सकता क्योंकि आर के आसार बन पाते गुणोत्तर श्रेणी का तो आज का माना कि हमारे पास - का दो अब यह आर का मान यहां पर रख देते हैं हमारे पास एपीआर * 1 प्लस 8 गुना 10 यहां पर आर का मान रख देते हैं तो यार * 1 प्लस 4 बराबर 10:00 यहां पर आर का मान रखेंगे और कमाने - का 21 * - तो 1 प्लस -2 बराबर 10 इसे सरल करेंगे - का तो यहां से माइनस का एक तो 2 गुना 1 बराबर 10 तो 1 का मान क्या जगह यहां सी ई = 5 ठीक है एक माना गया 5000 कमाने - का दूं तो यह देवी कर देखें पहले भी कल अपने लिए गुणोत्तर श्रेणी का कोई पद पूर्णांक वर्ग नहीं है यदि यहां पर हम स्कूल अंताक्षरी के पद लिखेंगे तो एक कमान 5 आया मतलब पहला पर पांच है दूसरा पद क्या जगह 5 गुना आर आर का मान - तू है तो यह क्या जगह - का 10 तीसरा पद किया जाएगा 1 गुना और कावर

आर - तू है तू माइनस टू का वन प्लस का 44 को ऐसे * करेंगे कमान 5 है जगह 4 पंजे 20 या वे हमारे पास एबीसी के मान जो हमें भी हुए गुणोत्तर श्रेणी के प्रथम 3 पदों 5 - 10 और 20 और विकल्प में दिए गुणोत्तर श्रेणी का कोई पद पूर्ण अंक का वर्ग नहीं है तो यह तो सही है कि किसी भी पूर्ण अंक का वर्ग नहीं है तो पहला भी कृपया से सही हो जाएगा गुणोत्तर श्रेणी का कोई पप्पू नाम का वर्ग नहीं है तो यह विकल्प सही हो जाएगा ठीक है दूसरे विकल्प में दिया है एबीसी का समांतर माध्य 5 है तो एबीसी के माने हमारे पास यहां से यह दिन का समांतर माध्य ज्ञात करें क्योंकि हमारे पास एक कमान है 5b कमान हमारे पास क्या है - का 10 कुर्सी कमान हमारे पास के है 20 इनका यदि समांतर माध्य ज्ञात करें तो क्या जाएगा 5 - 10 प्लस 20 बटा 3 बराबर अगस्त को सेट करें कि 25 - 10 व 15 15 बटा 3 बराबर 5 किया जाएगा हमारे पास एबीसी का समांतर माध्य तो दूसरा विकल्प सही हो जाएगा क्योंकि इसमें दिया

एबीसी का समांतर माध्य 5 है तो दूसरा विकल्प सही हो जाएगा तीसरे विकल्प में दे अभी बराबर प्लस माइनस 6 जबकि बी का मान क्या है - का 10th तीसरा विकल्प गलत हो जाएगा चौथे विकेट के लिए गुणोत्तर श्री का सार बना दो है जबकि सरवन ऊपर आर का मान क्या है - तू तो चौथा विकेट भी गलत हो जाएगा तो इस प्रश्न का पहला और दूसरा यह दो विकल्प सही हो जाएंगे धन्यवाद

संबंधित वीडियो

Show More
Comments

Add a public comment...