doubtnut_header_logo_white_new

आयाम मॉडुलेशन में वाहक तरंग आवृत्ति है

adfree_icon_web_accordion

Ab Padhai karo bina ads ke

Khareedo DN Pro and dekho sari videos bina kisi ad ki rukaavat ke!

Login if already purchased

Updated On: 27-06-2022

लिखित उत्तर

A
आवृत्ति मॉडुलेशन से कम
B
आवृत्ति मॉडुलेशन से अधिक
C
आवृत्ति मॉडुलेशन के समान
D
आवृत्ति मॉडुलेशन से कमी अधिक तथा कभी कम
Answer
The correct Answer is A
Solution
आयाम मॉडुलेशन में वाहक तरंग की आवृत्ति 0.520 मेगाहर्ट्ज़) आवृत्ति मॉडुलेशन में वाहक तरंग की आवृत्ति (80 मेगाहर्ट्ज़ से अधिक) से कम होती है।

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

हेलो दोस्तों मैंने कुछ नहीं है आया मोटिवेशन में वह तरंग की आवृत्ति क्या होती है हमें भी तो दिया गया है आवृत्ति मॉडल सन से कम दूसरे विकल्प है आवृत्ति माड्यूलेशन से अधिक तीसरा विकल्प है आवृत्ति मोटिवेशन के सामान और चौथा विकल्प है आवृत्ति मॉडल इससे कमी अधिक तथा कवि कमाया मन की बात करें ठीक है तो आया मोटिवेशन की प्रक्रिया क्या होती है वही करते हैं तो हमारे पास एक क्या होता है संदेश संकेत होते हैं जो एग्जाम वक्री तरंग के रूप में होती है यह आपका क्या होता है संदेश संकेत ठीक है अब इसे आपको क्या करना है संप्रेषित करना है प्रेषक से अधिक राही के अभी तक तो इनके बीच की दूरियां क्या होती काफी अधिक होती है और संदेश संकेत की जो आवृत्ति होती है यह काफी कम होने के कारण इसे दूर तक संप्रेषित करना क्या होता है मुश्किल होता है ठीक है इसलिए हम क्या करते हैं एक वह तरंग की चाल लेते हैं हम मदद लेते हैं और यह वाह तरंगे होती है जिसकी आवृति बहुत अधिक होती है लगभग मेगा हर्ट्ज की तुलना में ठीक है यह आपकी क्या हो गई वाहक तरह
अब क्या करेंगे इस वाहक तरंगों करेंगे हम संदेश संकेत के साथ अध्यारोपित ठीक है और इसे अध्यारोपित करके हमारे पास जो मॉडल इन हमारे पास एक क्या प्राप्त होगी मॉडलिंग प्राप्त होगी ठीक है जिसमें क्या होगा कि जिसके पास एक बैग में इस प्रकार से जो वह करेंगे होंगी वह नहीं दूंगी ठीक है यह आपका क्या प्राप्त हो गया आपका मॉडल इस तरह इस प्रकार से सिग्नल की प्रबलता अधिक होती है और इसे भेजना क्या वह संप्रेषण करना आसान होता है हम बात करें और यह जो पूरी प्रक्रिया अध्यारोपण के लिए प्रक्रिया है यह प्रक्रिया कहलाती है मॉडुलन की प्रक्रिया अब इसके कई सारे प्रकार हैं आवृत्ति मॉडल नया मॉडल और आपका क्या होता है एक फ्रिज मॉडल मॉडल इसमें ठीक है आया मॉडल क्या होता है तो आया माड्यूलेशन में यही प्रक्रिया होती है लेकिन इसमें आवृत्ति को क्या रखा जाता है आवृत्ति को नियत रखा जाता है आवृत्ति में कोई परिवर्तन नहीं होता केवल और केवल वाहक तरह अपने आयाम को किस के अनुसार मॉडल एक तरंग के
संकेत के आयाम के अनुसार परिवर्तित करता है ठीक है लेकिन अब इसमें क्या रहती है नियत रहती है इसमें जो आवृत्ति जो नियत रखी जाती है वह किस क्रम में रखी जाती है तूने दशमलव 5 से 20 मेगा हर्ट्ज के बीच में आवृत्ति को पिक कर दिया जाता है और केवल आयाम परिवर्तित होता है किसका वह तरंग का संदेश संकेत के आयाम के अनुसार ठीक है अगर यह बात करेगा मॉड लिसन लिसन किसकी आया आवृत्ति मोटिवेशन की उसमें क्या होता है उसमें आपकी बहुत तरंग की आवृत्ति परिवर्तित होती रहती है और कितनी अधिक जाएगा परिवर्तित होती है तो आप की आवृत्ति मॉड तरंग की आवृत्ति लगभग ली जाती है 80 मेगा हर्ट्ज से भी अधिक कृति किस प्रकार होती है तो आवृत्ति माड्यूलेशन से क्या होती है कम होती है इसमें किस प्रकार चली जाती है इसमें जो आपकी खैरियत से कैसी होती है विभाग संख्या भी सूरत में 5 से 20 मेगाहर्ट्ज के बीच में चेक करें
ऑप्शन होगा आपका क्या होगा करेक्ट ऑप्शन होगा
संबंधित वीडियो
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
3cosx का आयाम . . . . . . . है

127306250

7.5K03:40

3cosx का आयाम . . . . . . . है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
7+5cosx का आयाम . . . . . . . है

127306252

1.8K04:01

7+5cosx का आयाम . . . . . . . है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
फलन 3+sin5xका आयाम है

127306215

4.9K02:50

फलन 3+sin5xका आयाम है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
फलन f(x)=2sinx का आयाम है -

127306210

1.6K03:05

फलन f(x)=2sinx का आयाम है -
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
फलन f(x)=75cos3x का आयाम है

127306216

1.9K03:07

फलन f(x)=75cos3x का आयाम है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक श्रेणी LCR परिपथ में L=10.0H,C=40μF तथा R=60Omega को 240V वोल्ट के परिवर्ती आवृत्ति के प्रत्यावर्ती धारा स्त्रोत से जोड़ा गया है । गणना कीजिए -(i ) स्त्रोत की कोणीय आवृत्ति जो परिपथ को अनुनाद की अवस्था में लाती है ,(ii ) अनुनादी आवृत्ति पर धारा , (iii ) प्रेरक के सिरों के बीच अनुनाद की दशा में वर्ग - माध्य - मूल विभव पतन ।

58124390

6.3K05:04

एक श्रेणी LCR परिपथ में L=10.0H,C=40μF तथा R=60Omega को 240V वोल्ट के परिवर्ती आवृत्ति के प्रत्यावर्ती धारा स्त्रोत से जोड़ा गया है । गणना कीजिए -(i ) स्त्रोत की कोणीय आवृत्ति जो परिपथ को अनुनाद की अवस्था में लाती है ,(ii ) अनुनादी आवृत्ति पर धारा , (iii ) प्रेरक के सिरों के बीच अनुनाद की दशा में वर्ग - माध्य - मूल विभव पतन ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि किसी धातु पर जिसका कार्य-फलन (work function) verphi है, आपतित प्रकाश की आवृत्ति v है, तो उत्सर्जित फोटोइलेक्ट्रॉन की महत्तम गतिज ऊर्जा E जिस संबंध से प्राप्त होती है, वह है।

95021895

4.2K02:17

यदि किसी धातु पर जिसका कार्य-फलन (work function) verphi है, आपतित प्रकाश की आवृत्ति v है, तो उत्सर्जित फोटोइलेक्ट्रॉन की महत्तम गतिज ऊर्जा E जिस संबंध से प्राप्त होती है, वह है।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
प्रगामी तरंग का समीकरण निम्नलिखित है :
y= 10 sin pi (0.01x - 2.00 t) , जहा y तथा x सेमि में तथा t सेकंड में है ज्ञात कीजिये : (i) तरंग का आयाम, (ii) वेग , (iii) आवर्ती (iv) किसी क्षण 40.0 सेमि की दूरी पर स्थित दो कणो के बीच कलांतर |

126418938

8.9K04:43

प्रगामी तरंग का समीकरण निम्नलिखित है :
y= 10 sin pi (0.01x - 2.00 t) , जहा y तथा x सेमि में तथा t सेकंड में है ज्ञात कीजिये : (i) तरंग का आयाम, (ii) वेग , (iii) आवर्ती (iv) किसी क्षण 40.0 सेमि की दूरी पर स्थित दो कणो के बीच कलांतर |
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
sinx के आयाम ज्ञात कीजिए ।

127305949

8.6K01:47

sinx के आयाम ज्ञात कीजिए ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
समीकरण y=Acos2(2πnt2πxλ) दर्शाता है, एक तरंग

612559562

5.5K03:18

समीकरण y=Acos2(2πnt2πxλ) दर्शाता है, एक तरंग
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
74cosx के आयाम ज्ञात कीजिए ।

127305953

0.9K02:25

74cosx के आयाम ज्ञात कीजिए ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
2+sin3x के आयाम ज्ञात कीजिए ।

127305952

4.5K01:53

2+sin3x के आयाम ज्ञात कीजिए ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि फलन f(x) द्वारा अधिकतम मान x व y न्यूनतम मान ग्रहण किया जाता है तो इस फलन का आयाम . . . . . . . है ।

127306251

3.6K00:53

यदि फलन f(x) द्वारा अधिकतम मान x व y न्यूनतम मान ग्रहण किया जाता है तो इस फलन का आयाम . . . . . . . है ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यह ज्ञात है की महाविद्यालय के छात्रों में से 60 % छात्रावास में रहते है और 40 % छात्रावास में नहीं रहते है । पूर्ववर्ती वर्ष से परिणाम सूचित करते है की छात्रावास में रहने वाले छात्रों में से30 % छात्रों में से 20 % छात्रों ने A ग्रेड लिए। वर्ष के अंत में महाविद्यालय के एक छात्र को यादृच्छया चुना गया और पाया गया की उसे A ग्रेड मिला है । इस बात की क्या प्रायिकता है की वह छात्रावास में रहने वाला है ?

320058831

9.8K06:14

यह ज्ञात है की महाविद्यालय के छात्रों में से 60 % छात्रावास में रहते है और 40 % छात्रावास में नहीं रहते है । पूर्ववर्ती वर्ष से परिणाम सूचित करते है की छात्रावास में रहने वाले छात्रों में से30 % छात्रों में से 20 % छात्रों ने A ग्रेड लिए। वर्ष के अंत में महाविद्यालय के एक छात्र को यादृच्छया चुना गया और पाया गया की उसे A ग्रेड मिला है । इस बात की क्या प्रायिकता है की वह छात्रावास में रहने वाला है ?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
23sin(4x+7) के आयाम ज्ञात कीजिए ।

127305951

4.1K02:33

23sin(4x+7) के आयाम ज्ञात कीजिए ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
किसी नैज अर्धचालक में ऊर्जा अंतराल Eg का मान 1.2eV है। इसकी होल गतिशीलता इलेक्ट्रॉन की गतिशीलता की तुलना में काफी कम है तथा ताप पर निर्भर नहीं है। इसकी 600K तथा 300K पर चालकताओं का क्या अनुपात है? यह मानिए कि नैज वाहक सांद्रता ni की ताप निर्भरता इस प्रकार व्यक्त होती है-
ni=n0 exp (Eg2kBT)
जहां n0 एक स्थिरांक है।

54862521

7.4K09:40

किसी नैज अर्धचालक में ऊर्जा अंतराल Eg का मान 1.2eV है। इसकी होल गतिशीलता इलेक्ट्रॉन की गतिशीलता की तुलना में काफी कम है तथा ताप पर निर्भर नहीं है। इसकी 600K तथा 300K पर चालकताओं का क्या अनुपात है? यह मानिए कि नैज वाहक सांद्रता ni की ताप निर्भरता इस प्रकार व्यक्त होती है-
ni=n0 exp (Eg2kBT)
जहां n0 एक स्थिरांक है।