Getting Image
Please Wait...
Login
Register now for special offers
+91

Home

>

Hindi

>

कक्षा 11

>

Chemistry

>

Chapter

>

रासायनिक आबंधन आण्विक संरचना

>

अभिकथन: NH_(3) का द्विध्रुव आ...

लिखित उत्तर

अभिकथन और तर्क दोनों सही हैं तथा तर्क, अभिकथन की सही व्याख्या करता है। अभिकथन और तर्क दोनों सही हैं लेकिन तर्क, अभिकथन की सही व्याख्या नहीं करता है। अभिकथन सही है, लेकिन तर्क गलत है। अभिकथन और तर्क दोनों गलत हैं।

Answer : C
Solution : `NH_3` के प्रकरण में, एकाकी युग्म के कारण कक्षक द्विध्रुव तीन N - H बंधों के परिणामी द्विध्रुव आघूर्ण के कारण समान दिशा में होता है जबकि `NF_3` , में, कक्षक द्विध्रुव तीन N - F बंधों के परिणामी द्विध्रुव आघूर्ण के विपरित दिशा में होता है जो `NF_3` के द्विध्रुव आघूर्ण को नीचे दर्शाए गए अनुसार कम करता है: <brr> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/MTG_HIN_OBJ_FNG_CHE_XI_C04_E02_001_S01.png" width="80%">

Comments

Add a public comment...