doubtnut_header_logo_white_new

जब hc/λ ऊर्जा के फोटॉन धात्विक सतह पर आपतित होते हैं तब इस धातु की सतह से प्रकाश इलेक्ट्रॉन निकलते हैं। यदि सतह का कार्य फलन hv0 है। तब

adfree_icon_web_accordion

Ab Padhai karo bina ads ke

Khareedo DN Pro and dekho sari videos bina kisi ad ki rukaavat ke!

Login if already purchased

Updated On: 27-06-2022

लिखित उत्तर

A
इलेक्ट्रॉन की अधिकतम गतिज ऊर्जा [(hc/λ)hv0] होती है
B
प्रकाश इलेक्ट्रॉन की अधिकतम गतिज ऊर्जा (hc/λ) के बराबर होती हैं
C
प्रकाश इलेक्ट्रॉन की न्यूनतम गतिज ऊर्जा शून्य होती है
D
प्रकाश इलेक्ट्रॉन की न्यूनतम गतिज ऊर्जा hc/λ के बराबर होती है।
Answer
The correct Answer is A::C
Solution
आइंस्टीन का प्रकाश विद्युत समीकरण प्रयुक्त करने पर

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

नमस्कार दोस्तों से पूछे गए जब ऐसी बटेर लगना ऊर्जा की फोटोस दादी की सतह पर आपके तो होते हैं तब इस धातु की सतह से प्रकाश इलेक्ट्रॉनिक अलते रिशते का कार्य क्लर्नेस मी नोट हो तब इलेक्ट्रॉन की अधिकतम गतिज ऊर्जा एजेंसी में कैलेंडर - कैसे लोड होती है और प्रकाश इलेक्ट्रॉन की अधिकतम गति जुड़ जाए अच्छी बटन लौंडा के बराबर होगी तो ईश्वर का नाम से पूछेंगे गतिज ऊर्जा के बारे में यहां पर देखो जैसे कि प्रकाश प्रभाव होता क्या है जैसे हमारा एक फोटो नाता है यहां पर इसमें टकराएगा यह धातु के इलेक्ट्रॉनिक इलेक्ट्रॉनिक अभी से टकरा गए और यही सिलेक्ट उनको निकाल देगा अब जो इलेक्ट्रॉनिक पर निकला है वह क्या नहीं करनी करेगा जो इसके पास क्या होता की फोटो जो हमारे पास है प्रारंभ में ठीक है इसके पास ऊर्जा होती है मुझे कितनी होती है देखो यहां पर देखे अच्छी बड़ा लैंड लैंड
तू हमारा कार्य फलन कहलाता है ठीक है इसको हम भाई यहां पर ही रहता भाई बराबर हमारा एस न्यू नोट कार्यक्रम हो गया यहां पर अब क्यों का कितनी उर्जा इसको मिल गई है अब बाकी की उर्जा क्या खर्च होगी आप यह वाली बा की ओर से निकल चुके हमारा इलेक्ट्रो यहां से और कुछ ऊर्जा जो बस जाएगी यह वाली ऊर्जा का कुछ भाग जो बच जाएगा वह गतिज ऊर्जा में चला जाएगा तो की अधिकतम में की मैक्सिमम जिसको बोलते हुए गतिरोध चला जाएगा कुल्लू से कितनी थी हमारी अच्छी पटेल अमी पटेल एंड का कुछ भाग 23 को दे दिया और बाकी के हमारे यहां पर गतिज ऊर्जा बचके ठीक है तो यह हो गया तो हमारे पास क्योंकि इलेक्ट्रॉन के अधिकतम गतिज ऊर्जा अच्छे बड़े लंबे मैसेज कैसे लोड होती है तो यह तो सही हो गया मारा यह तो भी कल पिया तो सही हो गया दिखेगा देखी प्रकाश इलेक्ट्रो की अधिकतम गति जो चाय से बठिंडा के बराबर होती है तो यह गलत हो गया फिर प्रकाश इलेक्ट्रॉनिक न्यूनतम गतिज ऊर्जा सुनने होती है को न्यूनतम गतिज ऊर्जा का तो यहां पर मतलबी नहीं अधिकतम गतिज ऊर्जा का मतलब है आप पर कि अगर कोई भी ऊर्जा हानि नहीं हो रही है तो अधिकतर मरीज हो जा मारी क्योंकि पहले फोटोन की ऊर्जा कितनी थी
वह सारी की सारी इसको दी थी तू कार्यक्रम में खर्च होगी और बाकी की जो ऊर्जा बचाओ 35000 खर्च होगी ठीक है तू ही तो गलत हो गया मेरा विकास इलेक्ट्रॉन की यह न्यूनतम गतिज ऊर्जा सिटीलैंड न्यूनतम नहीं होती को अधिकतम होती थी यह भी गलत हो गया फिर कोई भी कल को हमारे यहां पर संयुक्त होगा धन्यवाद
संबंधित वीडियो
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि a तथा b इकाई सदिश हैं तथा θ इनके बीच का कोण है। तब ˆa+ˆb<1 यदि

400485822

3.5K03:50

यदि a तथा b इकाई सदिश हैं तथा θ इनके बीच का कोण है। तब ˆa+ˆb<1 यदि
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
जब 'r त्रिज्या का एक हवा का बुलबुला किसी झील की तली से सतह तक उठता है तो उसकी त्रिज्या 5r/4 हो जाती है (वायुमण्डलीय दाब जल स्तम्भ की 10 मीटर की ऊंचाई के बराबर है)। यदि ताप नियत है तथा पृष्ठ तनाव को उपेक्षणीय माना गया है, तो झील की गहराई है

540836192

7K04:25

जब 'r त्रिज्या का एक हवा का बुलबुला किसी झील की तली से सतह तक उठता है तो उसकी त्रिज्या 5r/4 हो जाती है (वायुमण्डलीय दाब जल स्तम्भ की 10 मीटर की ऊंचाई के बराबर है)। यदि ताप नियत है तथा पृष्ठ तनाव को उपेक्षणीय माना गया है, तो झील की गहराई है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यंग के प्रयोग में दोनों रिलटो से पदों की दुरी 2 मीटर है 4800x 10^(-10)"मीटर"तरंगदैर्ध्य का प्रकाश उन पर आपतित होता है
यदि आपतित प्रकाश का तरंगदैर्द्य बदलकर कर दिया जाता है, तो फ्रेजो की चौड़ाई ज्ञात कीजिये

177255739

2.9K03:05

यंग के प्रयोग में दोनों रिलटो से पदों की दुरी 2 मीटर है 4800x 10^(-10)"मीटर"तरंगदैर्ध्य का प्रकाश उन पर आपतित होता है
यदि आपतित प्रकाश का तरंगदैर्द्य बदलकर कर दिया जाता है, तो फ्रेजो की चौड़ाई ज्ञात कीजिये
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि किसी धातु पर जिसका कार्य-फलन (work function) verphi है, आपतित प्रकाश की आवृत्ति v है, तो उत्सर्जित फोटोइलेक्ट्रॉन की महत्तम गतिज ऊर्जा E जिस संबंध से प्राप्त होती है, वह है।

95021895

8.6K02:17

यदि किसी धातु पर जिसका कार्य-फलन (work function) verphi है, आपतित प्रकाश की आवृत्ति v है, तो उत्सर्जित फोटोइलेक्ट्रॉन की महत्तम गतिज ऊर्जा E जिस संबंध से प्राप्त होती है, वह है।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि (1+i3)12=a+ib है a तथा b वास्तविक है तो b का मान है

371320080

4.8K03:08

यदि (1+i3)12=a+ib है a तथा b वास्तविक है तो b का मान है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि दो सदिश ¯a और ¯b इस प्रकार हैं कि ¯a+¯b=¯b, तब सिद्ध कीजिए कि ¯a+2¯b, सदिश ¯a पर लम्ब है |

226112041

2.9K02:50

यदि दो सदिश ¯a और ¯b इस प्रकार हैं कि ¯a+¯b=¯b, तब सिद्ध कीजिए कि ¯a+2¯b, सदिश ¯a पर लम्ब है |
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि a,b,c इकाई सदिश इस प्रकार है कि a+b+c=0 तब निम्नलिखित में से कौन-सा विकल्प सत्य हैं ?

334965940

8.1K04:05

यदि a,b,c इकाई सदिश इस प्रकार है कि a+b+c=0 तब निम्नलिखित में से कौन-सा विकल्प सत्य हैं ?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि वक्र y=ax और y=bx एक दूसरे को α कोण पर काटते हैं, तब tanα का मान है

358826236

1.9K03:57

यदि वक्र y=ax और y=bx एक दूसरे को α कोण पर काटते हैं, तब tanα का मान है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि वास्तविक मान फलन f(x)=ax1xn(ax+1) सम है, तब n का मान है

400485711

4.1K03:18

यदि वास्तविक मान फलन f(x)=ax1xn(ax+1) सम है, तब n का मान है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
जब मूलबिंदु (3,2) पर है तब इस मूलबिंदु के सापेक्ष किसी बिंदु P के निर्देशांक (3,4) है । बिंदु (0,0) पर मूलबिंदु होने पर इसके निर्देशांक है । बिंदु (0,0) पर मूलबिंदु होने पर इसके निर्देशांक ज्ञात कीजिए

127304403

2.1K02:15

जब मूलबिंदु (3,2) पर है तब इस मूलबिंदु के सापेक्ष किसी बिंदु P के निर्देशांक (3,4) है । बिंदु (0,0) पर मूलबिंदु होने पर इसके निर्देशांक है । बिंदु (0,0) पर मूलबिंदु होने पर इसके निर्देशांक ज्ञात कीजिए
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक कम्पनी द्वारा निर्मित 10% बल्व खराब निकलते हैं। 5 बल्बों के सैम्पल से किसी भी बल्ब की खराब न होने की प्रायिकता है

371320418

1.5K02:39

एक कम्पनी द्वारा निर्मित 10% बल्व खराब निकलते हैं। 5 बल्बों के सैम्पल से किसी भी बल्ब की खराब न होने की प्रायिकता है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि a व 2a का समांतर माध्य इनके हरात्मक माध्य से 2 अधिक है। तब a का मान है

358827187

2K01:44

यदि a व 2a का समांतर माध्य इनके हरात्मक माध्य से 2 अधिक है। तब a का मान है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि a, b,c तीन सदिश इस प्रकार है कि [a b c ] = 5 तब [a×bb×cc×a] का मान है

371320254

1K05:00

यदि a, b,c तीन सदिश इस प्रकार है कि [a b c ] = 5 तब [a×bb×cc×a] का मान है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि आव्यूह A इस तरह है A2=2AI,I इकाई आव्यूह है, तब n2 के लिए An बराबर होगा

371320407

4.5K02:33

यदि आव्यूह A इस तरह है A2=2AI,I इकाई आव्यूह है, तब n2 के लिए An बराबर होगा
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि अतिपरवलय x24y29=1 के बिन्दु (2secϕ,3tanϕ) पर स्पर्शी 3xy+4=0 के समान्तर है , तब ϕ का मान है।

358825816

2.6K03:18

यदि अतिपरवलय x24y29=1 के बिन्दु (2secϕ,3tanϕ) पर स्पर्शी 3xy+4=0 के समान्तर है , तब ϕ का मान है।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि a1,a2.............,an धनात्मक वास्तविक संख्याएँ हैं, जिनका गुणनफल एक निश्चित संख्या c है, तब a1+a2+......+an1+2an का न्यूनतम मान है

320186019

10K03:08

यदि a1,a2.............,an धनात्मक वास्तविक संख्याएँ हैं, जिनका गुणनफल एक निश्चित संख्या c है, तब a1+a2+......+an1+2an का न्यूनतम मान है