logo
search
search
user
login
Login

चित्र में दिखाए परिपथ में हर प्रतिरोध 1Omega है। A और B बिन्दुओं के बीच प्रभावी प्रतिरोध है <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/GRB_SUL_HIN_PHY_XII_C06_E08_082_Q01.png" width="80%">

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 18-12-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE
camera

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo
and get the answer completely free,
UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!
check-circle

लिखित उत्तर

`((4)/(3))Omega``((3)/(2))Omega``7Omega``((8)/(7))Omega`

Answer :
D
Solution :
चित्र II.83 में दर्शाए अनुसार धारा को किरखोफ के पहले नियम के अनुसार बाँटे। <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/GRB_SUL_HIN_PHY_XII_C06_E08_082_S01.png" width="80%"> <br> क्योंकि भुजा CE और ED में एक ही धारा अर्थात `(I_(a)-I_(3))` होनी चाहिए , इसलिए शाखा AEB के साथ सम्पर्क बिंदु E का कोई प्रभाव नहीं। <br> अतः `R_(CED) = (Rxx 2 R)/(R+ 2R) = 2/3 R` <br> ध्यान दें कि CE और ED श्रेणीक्रम में जुड़े हैं और उनका प्रभावी प्रतिरोध (2R), प्रतिरोध R वाले प्रतिरोधक CD के साथ समान्तर क्रम में जुड़ा है। <br> स्पष्ट है कि `R_(ACDB)= R + 2/3 R + R = 8/3 R` और `R_(AEB)= 2 R` <br> क्योंकि `R_(ACDB)` और `R_(AEB)` समान्तर क्रम में जुड़े हैं, इसलिए <br> `R_(AB)= ((8/3)R xx 2 R)/((8/3) R + 2 R)= ((16R^(2))/(3))/((14R)/(3)) = 8/7 Omega` ( क्योंकि `R = 1 Omega`)

संबंधित वीडियो

Show More

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details