logo
search
search
user
login
Login
HomeHindiकक्षा 12MathsChapterप्रायिकता क्रमश:

52 ताशों की हड्डी से एक के बाद...

52 ताशों की हड्डी से एक के बाद एक दो पत्ते निकाले जाते है | यदि निकलने के बाद पुनः ताश की हड्डी में नहीं रखा जाता है तो दोनों पत्तों के ईट का होने की प्रायिकता क्या होगी ?

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 5-2-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

18.1 K+

10.4 K+

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
माना `E_(1):` पहली निकाल में ईट का पत्ता निकालने की घटना <br> `E_(2):` दूसरी निकाल में पुनः ईट का पत्ता निकालने की घटना <br> तब `P(E_(1))=(""^(13)C_(1))/(""^(52)C_(1))=(13)/(52)=(1)/(4)` <br> स्पष्टतः एक पत्ता निकालने के बाद गड्डी में शेष 51 पत्ते बचते है जिनमें से ईट के <br> पत्तों की संख्या `=12(=13-1)` <br> प्रतिबन्धी प्रायिकता की परिभाषा से, दूसरी निकाल में ईट का पत्ता निकालने की प्रायिकता जबकि पहली निकाल में ईट का पत्ता निकल चूका है | <br> `=P(E_(2)//E_(1))=(""^(12)C_(1))/(""^(51)C_(1))=(12)/(51)=(4)/(17)` <br> इसलिए, अभीष्ट प्रायिकता `=P(E_(1)capE_(2))` <br> `=P(E_(1))cdot P(E_(2)//E_(1))` <br> `=(1)/(4)xx(4)/(17)=(1)/(17)`

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details