Login

`H_(3)PO_(3)` को नीचे दर्शायी गयी संरचनाओं 1 और 2 के द्वारा प्रदर्शित किया जा सकता है। क्या ये संरचनायें `H_(3)PO_(3)` को प्रदर्शित करते हुए अनुनाद संकर के अनुनादीय रूपों में ली जा सकती? यदि नहीं तो उचित कारण दीजिए। <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/SP_LLA_HIN_CHE_XI_P1_C04_E02_012_S01.png" width="80%">

लिखित उत्तर

Solution :
अनुनाद के लिए सामान्य आवश्यकताएँ है कि अनुनादी संरचनाओं में इलेक्ट्रॉन युग्मों की व्यवस्था में भिन्नता होनी चाहिए न कि परमाणुओं की। संरचनाएँ (1)और (2) अनुनादी संरचनाएँ नही है क्योकि संरचना (1) फास्फोरस परमाणु H(P-H बन्ध) से जुड़ा होता है। जबकि अन्य (2) में यह OH समूह (P-OH बन्ध) से जुड़ा होता है।

संबंधित वीडियो

Show More
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details