Login
HomeHindiकक्षा 12BiologyChapterपुष्पी पादपों में लैंगिक जनन

आम की अनुदैर्घ्य काट का एक नाम...

Question : आम की अनुदैर्घ्य काट का एक नामांकित चित्र बनाइए। प्रश्न 15. सेब को आभासी फल क्यों कहते हैं? पुष्प का कौन-सा भाग फल की रचना करता है।

Updated On: 17-04-2022

Video Solution: आम की अनुदैर्घ्य काट का एक नामांकित चित्र बनाइए। प्रश्न 15. सेब को आभासी फल क्यों कहते हैं? पुष्प का कौन-सा भाग फल की रचना करता है।

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo
and get the answer completely free,
UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

लिखित उत्तर

Solution :
निषेचन के पश्चात् पुष्प का अण्डाशय फल की रचना करता है। अण्डाशय से विकसित फल सत्य फल कहलाते हैं। चूंकि सेब में फल का निर्माण मांसल पुष्पासन (thalamus) से होता है। अत: इसे आभासी फल (false fruit or pseudocarp) कहते हैं। सेब में खाद्य भाग पुष्पासन है—अण्डाशय नहीं।

उत्तर

Step by step video & image solution for "आम की अनुदैर्घ्य काट का एक नामांकित चित्र बनाइए। प्रश्न 15. सेब को आभासी फल क्यों कहते हैं? पुष्प का कौन-सा भाग फल की रचना करता है।" by Biology experts to help you in doubts & scoring excellent marks in Class 12 exams.

Transcript

हेलो फ्रेंड्स इस नियम के अनुसार 18 का एक नामांकित चित्र बनाइए और एक और प्रश्न दिया है सेव को आवासी पर क्यों कहते हैं पुष्पा का कौन सा भाग फल की रचना करता है तो यहां पर सबसे पहले प्रश्न का पहला भाग आम के फल की अनुदैर्ध्य काट यानी कि आम के फल की अनुदैर्ध्य काट का चित्र हमें बनाना है तो आइए देखते हैं जैसे यह जो जीता है यह आम की अनुदैर्ध्य काट का चित्र है ठीक है अब यहां पर जो सबसे पहले आपको बाहर दिख रही है बाहर की परत हो बाहर की परत एपी कार पर यानी बहाए 550 होती है क्या होती है बाहर वाले वित्तीय कहलाती है क्या कहलाती है बाहर पल विधि कहलाती है भाई फिर पति भाई पार्टी के अंदर का भाग कहलाता है मध्य पर्वती मध्य पल भी तू यह कहलाती है उसके बाद यहां पर जो अंदर वाली जो लेयर है

इसे कहते हैं अंतः पलवित इसे क्या कहते हैं अतः वाले व्यक्ति से कहा जाता है उसके बाद जो बीच में है यह बीच कह लाता है यानी कि सीट ठीक है इस तरीके की रचना कुछ हमारे किसकी होती है हमारे आम के फल के प्रश्न का दूसरा भाग दिया है किसी को आवासीय के देखते यहां पर मैं कुछ आया सेब को क्या कहते हैं आभासी फल आभासी फल तो दोस्तों प्रश्नों में यह भी पूछा है कि जो है पुष्पा का कौन सा भाग फल का निर्माण करता है तो जो आभासी फल नहीं यानी कि सत्य फल होते हैं जो फ्रूट फ्रूट सत्य फल होते हैं में निषेचन के बाद पुष्पक के अंडाशय से क्या होती है पुष्पा के अंडाशय से फल का निर्माण होता है फल का निर्माण होता है लेकिन ऐसे फल जिनमें की

फल का निर्माण यहां पर सिर्फ काम ने आवासीय इसलिए कहा है क्योंकि यहां पर यह अंडाशय से नहीं बल्कि इसके पुष्पा सन से जो है क्या बनता है पुष्पक के पुष्पा से फल का निर्माण होता है इसलिए हम इसे आभासी फल कहते हैं क्योंकि सत्य वालों का निर्माण उसके अंडाशय से होता है और जब किसी फल में किसी फल में फल का निर्माण पुष्पक के अंडाशय से नहीं होकर अन्य भाग पुष्पा के अन्य भाग से फल का निर्माण होता है तो ऐसा फल आभासी फल कहलाता है यहां पर पुष्प आसन से फल बन रहा है इसलिए हम आभासी फल खाएंगे और सामान्य सत्यपाल में अंडाशय से फल का निर्माण होता है आशा करते हैं आप कुछ प्रश्न का उत्तर समझ आया होगा वीडियो को देखने के लिए धन्यवाद

Question Details till 16/05/2022

Questionआम की अनुदैर्घ्य काट का एक नामांकित चित्र बनाइए। प्रश्न 15. सेब को आभासी फल क्यों कहते हैं? पुष्प का कौन-सा भाग फल की रचना करता है।
Chapter Nameपुष्पी पादपों में लैंगिक जनन
SubjectBiology (more Questions)
Class12th
Type of AnswerVideo & Image
Question Language
In Video - Hindi
In Text - Hindi
Students Watched8.9 K+
Students Liked4.2 K+
Question Video Duration2m46s

संबंधित Biology वीडियो

Show More

महत्वपूर्ण Biology प्रश्न

(1) My job as the District Veterinarian in Darrowby, Yorkshire has thrown up some interesting moments. I was driving up to Pawson.s sheep farm one morning, when I saw this rare sight. <br> (2) I suppose it isn.t unusual to see a man pushing a pram in a town, but on a lonely moorland road this scene merits a second glance. Especially when the pram contains a large gray dog. I drew up beside them and stopped. <br> (3) I looked at the pram, ancient and rusty, and at the big animal sitting upright inside it. He was a cross-bred greyhound, and he gazed back at me with unruffled dignity. I couldn.t help but admire his healthy and happy disposition. <br> (4) “Nice dog," I said. <br> (5) “Aye, that.s Jake.” The man smiled, introducing himself as Roddy. <br> (6) That same evening, about eight o.clock, the doorbell rang. I answered it and found Roddy on the front doorstep. Behind him, stood the ubiquitous pram, One look at the prone dog warned me that something was terribly wrong. <br> (7) I threw the door wide open. “Bring him in." <br> (8) I grabbed the animal round the `ul("middle")` and we lifted him onto the table. I watched in disbelief as the huge form lay there. There was no fight for breath, he was unconscious. His pulse was rapid and feeble, yet he didn.t breathe. <br> (9) Understanding the symptoms, I said, "Roddy, he is choking. I.m going to have a look at his throat." <br> (10) I pushed Jake.s jaws apart, depressed his tongue with a forefinger, and shone my torch into the depths. He was the kind of good-natured dog who offered no resistance as I prodded around, I shall always be thankful that at that very instant the dog coughed, opening up the cartilages of the larynx and giving me a glimpse of the cause of all the trouble. There, beyond the drooping epiglottis, I saw for a fleeting moment a smooth round object no bigger than a pea. <br> (11) “I think it.s a pebble," I gasped. “Right inside his larynx. I.ll have to get it out." <br> (12) I seized a pair of scissors and clipped away the hair from the ventral surface of the larynx. I dared not use a general anesthetic, and therefore I infiltrated the area with local before swabbing with antiseptic. <br> (13) "Hold his head steady,” I said hoarsely, and gripped a scalpel. I cut down through skin, fascia, and the thin layers of the muscle until the ventral surface of the larynx was revealed <br> (14) And there it was. A pebble right enough-gray and glistening and tiny, but big enough to kill.<br> (15) I had to fish it out quickly and cleanly without pushing it into the trachea. I leaned back and rummaged in the tray until I found some broad-bladed forceps, then I poised them over the `ul("wound")` . Great surgeons. hands, I felt sure, didn.t shake like this. <br> (16) I clenched my teeth, `ul("introduced")` the forceps, and my hand magically steadied as I clamped them over the pebble. <br> (17) I didn.t breathe at all as I bore the shining little object slowly and tenderly through the opening and dropped it with a gentle rat-tat on the table. <br> (18) "Is that it ?" asked Roddy, almost in a whisper. <br> (19) “That.s it.” I reached for a needle and suture silk. “All is `ul("well")` now." <br> (20) The stitching took only a few minutes and by the end of it, Jake was bright-eyed and alert, paws shifting impatiently, ready for anything. <br> (21) He seemed to know his troubles were over. <br> Adapted from : James Herriot.s Favorite Dog Stories <br> Answer the following questions in your own words as briefly as possible : <br> How did the narrator know that the dog was choking ?
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details