doubtnut_header_logo_white_new

CO2(g),CO(g) तथा H2O (g) के लिये ΔHf क्रमश: - 393.5,-110.5 तथा-241.8 kJ/mol है। तो निम्न क्रिया के लिये CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g) मानक ऐन्थैल्पी परिवर्तन होगा

adfree_icon_web_accordion

Ab Padhai karo bina ads ke

Khareedo DN Pro and dekho sari videos bina kisi ad ki rukaavat ke!

Login if already purchased

Updated On: 27-06-2022

लिखित उत्तर

A
524.1
B
41.2
C
262.5
D
41.2
Answer
The correct Answer is B
Solution
CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g)
ΔH=[क्रिया फलों की ऐन्थैल्पी - क्रियाकारकों की ऐन्थैल्पी]
ΔHf=[ΔHf(CO)(g)+ΔHf(H2O)(g)][ΔHf(CO2)(g)+ΔHf(H2)(g)]
=[-110.5+(-241.8)]-[-393.5+0]
=-352.3 +393.5
=+41.2

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.
संबंधित वीडियो
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
इस अभिक्रिया में
CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g),ΔH=80kJ
ΔH को कहा जाता है

559602817

5.4K02:16

इस अभिक्रिया में
CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g),ΔH=80kJ
ΔH को कहा जाता है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
CO(g),CO2(g) तथा H2O(g) की सम्भवन उष्माये क्रमशः 25.7,93.2 तथा 56.4 किलो - कैलोरी/मोल है निम्न रासायनिक अभिक्रिया की ऊष्मा की गणना कीजिए
CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g)

94846287

5.4K04:04

CO(g),CO2(g) तथा H2O(g) की सम्भवन उष्माये क्रमशः 25.7,93.2 तथा 56.4 किलो - कैलोरी/मोल है निम्न रासायनिक अभिक्रिया की ऊष्मा की गणना कीजिए
CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g)
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
CO2(g),CO(g) और H2O(g) के ΔHf क्रमशः 393.5,110.5 for 241.8 किलो - जूल मोल1 है अभिक्रिया CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g) के लिए मानक एन्थेलपी परिवर्तन ( standard enthaply change ) किलो - जूल में है ---

94846398

6.4K04:49

CO2(g),CO(g) और H2O(g) के ΔHf क्रमशः 393.5,110.5 for 241.8 किलो - जूल मोल1 है अभिक्रिया CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g) के लिए मानक एन्थेलपी परिवर्तन ( standard enthaply change ) किलो - जूल में है ---
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
इस अभिक्रिया के लिए 800 K पर Ke = 4.24 है -
CO(g)+H2O(g)CO2(g)+H2(g)
800 K पर CO2 एवं H2O तथा H2O के साम्य पर सांद्रताओं की गणना कीजिए, यदि प्रारंभ में केवल CO तथा H2O ही उपस्थित हों तथा प्रत्येक की सांदता 0.1M हो।

505778464

1.8K

इस अभिक्रिया के लिए 800 K पर Ke = 4.24 है -
CO(g)+H2O(g)CO2(g)+H2(g)
800 K पर CO2 एवं H2O तथा H2O के साम्य पर सांद्रताओं की गणना कीजिए, यदि प्रारंभ में केवल CO तथा H2O ही उपस्थित हों तथा प्रत्येक की सांदता 0.1M हो।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
CH2(g),CO(g) तथा H2O(g) के लिए ΔHf के मान क्रमशः -393.5, -110.5, तथा -241.8 किलजूल मोल1 है निम्नलिखित अभिक्रिया के लिए मानक एन्थेलपी परिवर्तन ( किलजूल में ) क्या होगा ?
CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g)

94846485

1.4K03:06

CH2(g),CO(g) तथा H2O(g) के लिए ΔHf के मान क्रमशः -393.5, -110.5, तथा -241.8 किलजूल मोल1 है निम्नलिखित अभिक्रिया के लिए मानक एन्थेलपी परिवर्तन ( किलजूल में ) क्या होगा ?
CO2(g)+H2(g)CO(g)+H2O(g)
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
298 K ताप पर अभिक्रिया CO(g)+H2O(g)<CO2(g)+H2(g) के लिए साम्य स्थिरांक (K)=1.06×105 है तो इस अभिक्रिया के लिए मानक मुक्त ऊर्जा परिवर्तन की गणना कीजिये।

648501990

7.2K

298 K ताप पर अभिक्रिया CO(g)+H2O(g)<CO2(g)+H2(g) के लिए साम्य स्थिरांक (K)=1.06×105 है तो इस अभिक्रिया के लिए मानक मुक्त ऊर्जा परिवर्तन की गणना कीजिये।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
दिया गया है, C(graphite)+O2(g)CO2(g)r(g)Ho=393.5kJmoI1H2(g)+12O2(g)H2O(l)rHo=285.8kJmoI1CO2(g)=2H2O(l)CH4(g)+202(g)rHo=+890.3kJmoI1 ऊपर दिए गए ऊष्मरासायनिक समीकरणों के आधार पर,298 K पर अभिक्रिया C(graphite)+2H2(g)CH4(g)के लिए rHo का मान होगा :

559603440

7.3K03:50

दिया गया है, C(graphite)+O2(g)CO2(g)r(g)Ho=393.5kJmoI1H2(g)+12O2(g)H2O(l)rHo=285.8kJmoI1CO2(g)=2H2O(l)CH4(g)+202(g)rHo=+890.3kJmoI1 ऊपर दिए गए ऊष्मरासायनिक समीकरणों के आधार पर,298 K पर अभिक्रिया C(graphite)+2H2(g)CH4(g)के लिए rHo का मान होगा :
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
निम्नलिखित आँकड़ों से CH3OH(l) की मानक-विरचन एन्थैल्पी ज्ञात कीजिए
(i) CH3OH(l)+32O2(g)CO2(g)+2H2O(l),ΔH=726kJmol1
(ii) C()+O2(g)CO2(g),ΔcHΘ=393kJmol1
(iii) H2(g)+12O2(g)H2O(l),ΔfHΘ=286kJmol1

648502006

1.8K

निम्नलिखित आँकड़ों से CH3OH(l) की मानक-विरचन एन्थैल्पी ज्ञात कीजिए
(i) CH3OH(l)+32O2(g)CO2(g)+2H2O(l),ΔH=726kJmol1
(ii) C()+O2(g)CO2(g),ΔcHΘ=393kJmol1
(iii) H2(g)+12O2(g)H2O(l),ΔfHΘ=286kJmol1
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
निम्न में से किस अभिक्रिया में ऊष्मा का उत्सर्जन अधिक होगा तथा क्यों?
(i) H2(g)+12O2(g)H2O(g)
(ii) H2(g)+12O2(g)H2O(l)

648501940

1.7K

निम्न में से किस अभिक्रिया में ऊष्मा का उत्सर्जन अधिक होगा तथा क्यों?
(i) H2(g)+12O2(g)H2O(g)
(ii) H2(g)+12O2(g)H2O(l)
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
H2O(l) और H2O(g) की मानक संभवन एन्थैल्पी क्रमशः -285.8 kJ mol1 और -241.8 kJ mol1 हैं।

505778315

6.4K

H2O(l) और H2O(g) की मानक संभवन एन्थैल्पी क्रमशः -285.8 kJ mol1 और -241.8 kJ mol1 हैं।
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
CO(g),CO2(g),N2O(g) एवं N2O4(g) की विरचन एन्थैल्पी क्रमशः 110,393,819.7kJmol1 है। अभिक्रियाN2O4(g)+3CO(g)N2O(g)+3CO2(g) के लिए ΔrH का मान ज्ञात कीजिए।

648502004

5.9K

CO(g),CO2(g),N2O(g) एवं N2O4(g) की विरचन एन्थैल्पी क्रमशः 110,393,819.7kJmol1 है। अभिक्रियाN2O4(g)+3CO(g)N2O(g)+3CO2(g) के लिए ΔrH का मान ज्ञात कीजिए।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
अभिक्रिया
H2(g)+12O2(g)H2O(g) के लिए एन्थैल्पी ΔH1 और H2(g)+12O2(g)H2O(l) के लिए एन्थैल्पी ΔH2 है। तब

559603409

3.5K06:07

अभिक्रिया
H2(g)+12O2(g)H2O(g) के लिए एन्थैल्पी ΔH1 और H2(g)+12O2(g)H2O(l) के लिए एन्थैल्पी ΔH2 है। तब
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक अज्ञात हाइड्रोकार्बन के 25 g को जलाने पर 88 g CO2 तथा 9g H2O उत्पन्न होते है | इस अज्ञात हाइड्रोकार्बन में ये सन्निहित है |

555835752

3.4K05:27

एक अज्ञात हाइड्रोकार्बन के 25 g को जलाने पर 88 g CO2 तथा 9g H2O उत्पन्न होते है | इस अज्ञात हाइड्रोकार्बन में ये सन्निहित है |
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
C(s)+O2(g)CO2,ΔH=94kcal
CO(g)+12O2(g)CO2,ΔH=+135.2kcal
तब CO(g) की संभवन ऊष्मा है

559603057

4.2K04:02

C(s)+O2(g)CO2,ΔH=94kcal
CO(g)+12O2(g)CO2,ΔH=+135.2kcal
तब CO(g) की संभवन ऊष्मा है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक फलन g जो प्रत्येक वास्तविक संख्या x>0 के लिए परिभाषित है तथा g(1)=1,g'(x2)=x3 को सभी x>0 के लिए सन्तुष्ट करता है, तो g (4) का मान है

358827611

1.7K04:50

एक फलन g जो प्रत्येक वास्तविक संख्या x>0 के लिए परिभाषित है तथा g(1)=1,g'(x2)=x3 को सभी x>0 के लिए सन्तुष्ट करता है, तो g (4) का मान है