Getting Image
Please Wait...
Login
Register now for special offers
+91

Home

>

Hindi

>

कक्षा 12

>

Chemistry

>

Chapter

>

रासायनिक आबन्धन तथा आण्विक संरचना

>

N और F के बीच विद्युत ऋणात्मकत...

Updated On: 27-06-2022

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo and get the answer completely free,

UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

लिखित उत्तर

`NH_(3)` तथा `NF_(3)` दोनों में ही परमाणु-द्विध्रुव और आवन्ध द्विध्रुव एक ही दिशा में हैं। `NH_(3)` में परमाणु-द्विध्रुव और आवन्ध एक ही दिशा में हैं, जबकि `NF_(3)`, में ये एक-दूसरे के विपरीत दिशा में है `NH_(3)` तथा `NF_(3)` दोनों में परमाण्विक विधुव और  आबन्ध द्विध्रुव विपरीत दिशा में होते हैं `NH_(2)` में परमाण्विक द्विध्रुव तथा आवन्ध विधुव विपरीत दिशा में तथा `NF_(3)`, में समान दिशा में होते हैं

Answer : B
Solution :  किसी अणु का द्विध्रुव आघूर्ण अणु में स्थित सभी आबन्धों के आघूर्णों का सदिश योग होता है। <br> N की विद्युत-ऋणात्मकता । से अधिक होती है, जबकि NF, में F की विद्युत-ऋणात्मकता N से अधिक होती है तथा NHS में परमाण्वीय द्विध्रुव और बन्ध द्विबन्ध समान दिशा में होते हैं, जबकि `NF_(3)` में ये विपरीत दिशा में होते हैं। <br> अतः `NF_(3)` में सभी आबन्धों के आघूर्णों का सदिश योग NH के सदिश योग से कम होता है। <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/ARH_HIN_31Y_NEET_CHE_SP_C04_E01_040_S01.png" width="80%">

Loading Books

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

संबंधित वीडियो

Show More
Comments

Add a public comment...