doubtnut_header_logo_white_new

अम्ल तथा क्षार क्रिया करके लवण और जल बनाते हैं यह अभिक्रिया कहलाती है-

लिखित उत्तर

A
विस्थापन अभिक्रिया
B
प्रकाश रासायनिक अभिक्रिया
C
उदासीनीकरण अभिक्रिया
D
विघटन अभिक्रिया
Answer
The correct Answer is C
adfree_icon_web_accordion

Ab Padhai karo bina ads ke

Khareedo DN Pro and dekho sari videos bina kisi ad ki rukaavat ke!

Login if already purchased
संबंधित वीडियो
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
A + अम्ल लवण + कार्बनडाइऑक्साइड + जल
उपरोक्त समीकरण में A क्या है?

648555000

6.8K02:35

A + अम्ल लवण + कार्बनडाइऑक्साइड + जल
उपरोक्त समीकरण में A क्या है?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
क्या होता है जब- (समीकरणों द्वारा समझाओ)
(i) ऐसीटोन को सान्द्र H2SO4 के साथ गर्म किया जाता है।
(ii) बेंजोइक अम्ल SOCI_(2) से क्रिया करता है।
(iii) एसिटिक अम्ल अमोनिया से क्रिया करता है।
(iv) एसिटिक अम्ल कास्टिक सोडा से क्रिया करता है।

432600195

8.9K04:54

क्या होता है जब- (समीकरणों द्वारा समझाओ)
(i) ऐसीटोन को सान्द्र H2SO4 के साथ गर्म किया जाता है।
(ii) बेंजोइक अम्ल SOCI_(2) से क्रिया करता है।
(iii) एसिटिक अम्ल अमोनिया से क्रिया करता है।
(iv) एसिटिक अम्ल कास्टिक सोडा से क्रिया करता है।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
0.2 M एसीटिक अम्ल (CH3COO का pKa=9.26) के 50 mL के साथ 4.74pH का बफर बनाने के लिए आवश्यक 0.2 M NaOH का आयतन है

642739588

2K05:23

क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
0.2 M एसीटिक अम्ल (CH3COO का pKa=9.26) के 50 mL के साथ 4.74pH का बफर बनाने के लिए आवश्यक 0.2 M NaOH का आयतन है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
एक लीटर विलयन में डाईक्लोरो एसीटिक अम्ल (Ka=5×102) के 0.2 mole तथा सोडियम डाईक्लोरो एसीटेट के 0.1 mole है। विलयन में [H+] है

642739587

6.3K04:58

क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
एक लीटर विलयन में डाईक्लोरो एसीटिक अम्ल (Ka=5×102) के 0.2 mole तथा सोडियम डाईक्लोरो एसीटेट के 0.1 mole है। विलयन में [H+] है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि a.b=0 तथा a+b,b के साथ 60° का कोण बनाते हैं तो |a| बराबर है

146130972

4.9K03:16

यदि a.b=0 तथा a+b,b के साथ 60° का कोण बनाते हैं तो |a| बराबर है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
वास्तविक संख्याए कहलाती है -

223423782

2.7K02:20

वास्तविक संख्याए कहलाती है -
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
वह त्रिभुज जिसके लम्बकेंद्र ,परिकेन्द्र और अन्तः केंद्र सम्पाती हो ,कहलाती है -

223424644

8.1K05:37

वह त्रिभुज जिसके लम्बकेंद्र ,परिकेन्द्र और अन्तः केंद्र सम्पाती हो ,कहलाती है -
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
स्तम्भ A से B को सुमेलित कीजिए |
(A)(B)(i) (a)(ii) (b)NH4Cl(iii)ि (c)Na2CO3(iv) (d)ि (v) (e)CH3COOH(vi) (f)H2SO4(vii) (g)NH4OH(viii) (h)ि ि(ix)ि (i)NaOH(x)ि (j)NaCl

350666112

1.4K

स्तम्भ A से B को सुमेलित कीजिए |
(A)(B)(i) (a)(ii) (b)NH4Cl(iii)ि (c)Na2CO3(iv) (d)ि (v) (e)CH3COOH(vi) (f)H2SO4(vii) (g)NH4OH(viii) (h)ि ि(ix)ि (i)NaOH(x)ि (j)NaCl
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
प्रथम विलयन जिसमें CH3COONa का 1 mole व HCl का 1 mole है तथा द्वितीय विलयन जिसमें CH3COONa का 1mole व एसीटिक अम्ल का 1 mole है का एक लीटर विलयन में pH अनुपात है

642739589

3.5K05:08

क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
प्रथम विलयन जिसमें CH3COONa का 1 mole व HCl का 1 mole है तथा द्वितीय विलयन जिसमें CH3COONa का 1mole व एसीटिक अम्ल का 1 mole है का एक लीटर विलयन में pH अनुपात है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
8.26 pH का बफर बनाने के लिए 0.01MNH4OH विलयन (NH+4 के लिए pKa9.26 है ) के 500 mL में (NH4)2SO4 की कितनी मात्रा मिलानी पड़ेगी

642739586

7.3K05:35

क्षारीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता हैं जबकि अम्लीय बफर मिश्रण के pH को pH=pKa+log([])[] द्वारा दिया जाता है। सभी प्रयोगिक उद्देश्य के लिए कम मात्रा में अमल या क्षार मिलाने पर यद्यपि pH में कोई खास परिवर्तन नहीं होता, लेकिन परिणामी pH में थोड़ी कमी या वृद्धि से [][] का अनुपात [][] के लिए परिवर्तित हो जाता है।
8.26 pH का बफर बनाने के लिए 0.01MNH4OH विलयन (NH+4 के लिए pKa9.26 है ) के 500 mL में (NH4)2SO4 की कितनी मात्रा मिलानी पड़ेगी
doubtnut_header_logo_white_new
TEXT SOLUTION
सूची A तथा सूची B का मिलान कीजिए तथा सही कूट का चयन कीजिए-
A B1. ि(a)H2O2 2. (b)2 3. (c)Zn (ि)4. (d)

648559345

4.5K

सूची A तथा सूची B का मिलान कीजिए तथा सही कूट का चयन कीजिए-
A B1. ि(a)H2O2 2. (b)2 3. (c)Zn (ि)4. (d)
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक कार बनाने वाले कारखाने के दो प्लान्ट A और B हैं। प्लान्ट A, 60% कार बनाता है तथा प्लानअ B,40% कार बनाता है। प्लान्ट A द्वारा बनाए गए कारों में 80% मानक स्तर के हैं तथा प्लान्ट B द्वारा निर्मित कारों में 90% मान स्तर के हैं। यह कार यदृच्छया चुना जाता है तथा वह मान स्तर का पाया जाता है। प्रायिकता ज्ञात करें कि यह प्लान्ट B द्वारा निर्मित है।

104439272

6.5K04:51

एक कार बनाने वाले कारखाने के दो प्लान्ट A और B हैं। प्लान्ट A, 60% कार बनाता है तथा प्लानअ B,40% कार बनाता है। प्लान्ट A द्वारा बनाए गए कारों में 80% मानक स्तर के हैं तथा प्लान्ट B द्वारा निर्मित कारों में 90% मान स्तर के हैं। यह कार यदृच्छया चुना जाता है तथा वह मान स्तर का पाया जाता है। प्रायिकता ज्ञात करें कि यह प्लान्ट B द्वारा निर्मित है।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि A और B सममित आव्यूह हैं तो :
BA2AB........... है ।

146128150

6.4K03:41

यदि A और B सममित आव्यूह हैं तो :
BA2AB........... है ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक त्रिभुज का एक शीर्ष (1,2) पर है तथा इससे होकर जाने वाली दो भुजाओं के मध्य - बिन्दु (1,1) और (2,3) हैं , तो इस त्रिभुज का केन्द्रक है

334964118

3.5K04:32

एक त्रिभुज का एक शीर्ष (1,2) पर है तथा इससे होकर जाने वाली दो भुजाओं के मध्य - बिन्दु (1,1) और (2,3) हैं , तो इस त्रिभुज का केन्द्रक है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
STP, पर 280 मिली CH4 और 140 मिली H2 के मिश्रण को पूर्णतया जलाया गया। यह मानते हुए कि सम्पूर्ण भाप , जल में संघनित हो जाती है , बनने वाले जल के भार तथा ऑक्सीजन के आवश्यक आयतन की गणना कीजिए ।

110394700

9.4K07:07

STP, पर 280 मिली CH4 और 140 मिली H2 के मिश्रण को पूर्णतया जलाया गया। यह मानते हुए कि सम्पूर्ण भाप , जल में संघनित हो जाती है , बनने वाले जल के भार तथा ऑक्सीजन के आवश्यक आयतन की गणना कीजिए ।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
दो घटनाएँ A तथा B परस्पर स्वतंत्र कहलाती है यदि
(a) P(P(A))=P(B) (b ) P(A)+P(B)=1
(c ) P(¯¯¯A¯¯¯B)=[1P(A)][1P(B)]
(d ) A और B परस्पर अपवर्जी है

320058987

7.4K03:11

दो घटनाएँ A तथा B परस्पर स्वतंत्र कहलाती है यदि
(a) P(P(A))=P(B) (b ) P(A)+P(B)=1
(c ) P(¯¯¯A¯¯¯B)=[1P(A)][1P(B)]
(d ) A और B परस्पर अपवर्जी है