Getting Image
Please Wait...
Login
Register now for special offers
+91

Home

>

Hindi

>

कक्षा 12

>

Biology

>

Chapter

>

जीव और समष्टियाँ

>

उपयुक्त आरेख की सहायता से ल...

लिखित उत्तर

Solution : प्रकृति में किसी भी समष्टि के पास इतने संसाधन नही होते हें कि वह चरघाताकी वुध्दि करती रहे। व प्राकृतिक वरण के नियम के अनुसार योग्यता जाति जीवित रहती है। पोषण के लिए पर्याप्त संसाधन होते हुये भी इस योग्यता जाति के लिये एक सीमा के बाद वृध्दि संभव नही है व यह सीमा उस जाति के दिये गये आवास में पोषण क्षमता k कहलाती है। किसी आवास में सीमित संसाधनों के साथ वृध्दि कर रही आरम्भ में पश्चात प्रावस्था है फिर त्वरण मंदण और अनंतस्पर्शी अवस्थायी आती है। जब समय (t) के संदर्भ में N का को प्लाट करने पर सिर्ग्मोइड वक्र बन जाता है। जो बर्हुष्ट – पर्ले लॉजिस्टिक वृध्दि कहलाता है। और इसकी समीकरण है। <br> `dN//dt = (rN(K-N))/(K )` <br> N= समय t पर समष्टि घनत्व है। <br> r= प्राकृतिक वृध्दि की इंट्रेन्सिक दर <br> K = पोषण क्षमता <br> लॉजिस्टिक वृध्दि मॉडल को मान्यता प्राप्त है।

Loading Books

Question Details till 09/08/2022

Question
Chapter Nameजीव और समष्टियाँ
SubjectBiology (more Questions)
Class12th
Type of Answer
Question LanguageIn Text - Hindi
Students Watched800 +
Students Liked0 +

संबंधित Biology वीडियो

Show More
Comments

Add a public comment...