logo
search
search
user
login
Login
HomeHindiकक्षा 11PhysicsChapterगुरुत्वाकर्षण

भुजा a वाले एक समबाहु त्रिभुज ...

भुजा a वाले एक समबाहु त्रिभुज के प्रत्येक कोने पर द्रव्यमान m का एक कण रखा है | ये कण पारस्परिक गुरुत्वाकर्षण बल के प्रभाव में वृत्ताकार कक्षाओं में इस प्रकार घूमते हैं कि वे सदैव त्रिभुज के शीर्ष पर ही बने रहते हैं | प्रत्येक कण का वेग ज्ञात कीजिये| इन्हें अनन्त दूरी पर रखने में कितनी ऊर्जा आवश्यक होगी ?

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 8-7-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE
camera

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo
and get the answer completely free,
UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - SHIVLAAL PUBLICATION Class 11 गुरुत्वाकर्षण

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - SHIVLAAL PUBLICATION Class 11 PHYSICS
check-circle

लिखित उत्तर

Answer :
`sqrt((Gm)/(a)),(3Gm^(2))/(a)`
Solution :
त्रिभुज के प्रत्येक कोने पर रखे कण की वृत्ताकार कक्षा का केंद्र, समबाहु त्रिभुज का गुरुत्व केंद्र होगा, अर्थात प्रत्येक कण की कक्षा की त्रिज्या `r=(3)/(2)xx(asqrt3)/(2)` होगी | प्रत्येक कण पर शेष दोनों कणों के कारण लगने वाले गुरुत्वाकर्षण बलों का परिणामी बल `(sqrt3Gmm)/(a^(2))` होगा जिसकी दिशा त्रिभुज के गुरुत्व केंद्र की ओर होगी | <br> वृत्तीय गति के लिए, `(sqrt3Gmm)/(a^(2))=(mv^(2))/(2asqrt3)`, अतः `v=sqrt((Gm)/(v))` तथा आवश्यक ऊर्जा `=-` निकाय की स्थितिज ऊर्जा <br> `=-((-3Gm^(2))/(a))=(3Gm^(2))/(a)` (क्योंकि अनन्त पर U = 0 )

संबंधित वीडियो

Show More

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details