logo
search
search
user
login
Login

इस व्यवस्था को एक साथ बनाने में किया गया कार्य ज्ञात कीजिए |

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 27-3-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

camera

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo
and get the answer completely free,
UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!
Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - PRABODH PUBLICATION Class 12 PHYSICS
check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
(a) चूँकि किया गया कार्य आवेशों की अंतिम व्यवस्था पर निर्भर करता है , उन्हें किस प्रकार एक साथ लाया गया है , पर निर्भर नहीं करता है , हम आवेशों को A , B , C , D बिन्दुओ पर रखने के एक ढंग के लिए आवश्यक कार्य की गणना करेंगे | <br> माना सर्वप्रथम + q आवेश को बिन्दु A पर लाया जाता है इसके पश्चात -q ,+ q तथा - q आवेशों को क्रमशः B , C ,D पर लाते है | अतः किया गया कुल कार्य अग्र पदों में व्यक्त किया जा सकता है - <br> (i) अर्थात यह कार्य केवल आवेशों की व्यवस्था पर निर्भर करता है , उन्हें व्यवस्थित करने हेतु अपनाये गये तरीके (मार्ग ) पर निर्भर नहीं करता है | परिभाषानुसार यह आवेशों की कुल स्थिर विद्युत ऊर्जा है | <br> (b) आवेशों `q_(0)` को केन्द्र E तक लाने में किया गया अतिरिक्त कार्य ` W_(q0)xx` चारो आवेशों के निकाय के कारण <br> `= q_(0)xx[(q)/(4piin_(0) (d)/(sqrt(2)))+ (-q)/(4piin_(0) (d)/(sqrt(2)))+ (q)/(4piin_(0) (d)/(sqrt(2))) - (q) / (4piin_(0) (d)/(sqrt(2)))]= 0 ` <br> अर्थात बिन्दु E पर स्थिर विद्युत विभव शुन्य है , क्योकि A तथा C पर आवेशों के कारण विभव का मान B व् D के विभव द्वारा निरस्त हो जाता है | अतः बिन्दु E तक किसी भी आवेशों को लाने में कोई कार्य नहीं करना पढ़ता है |

संबंधित वीडियो

Show More

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details