Login
HomeHindiकक्षा 11ChemistryChapterपरमाणु संरचना

प्रकाशविधुत प्रभाव प्रयोग में ...

प्रकाशविधुत प्रभाव प्रयोग में सिल्वर धातु से फोटोइलेक्ट्रॉन का उत्सृजन `0.35` eV की वोल्टता द्वारा रोका जा सकता है जब `256.7` nm के विकिरण का पुयोग किया जाता है तो सिल्वर धातु के कार्यफलन की गणना कीजिए।

Updated On: 17-04-2022

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo
and get the answer completely free,
UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this chapter - NOOTAN HINDI Class 11 परमाणु संरचना

Click here to get PDF DOWNLOAD for all questions and answers of this Book - NOOTAN HINDI Class 11 CHEMISTRY

लिखित उत्तर

Solution :
आपतित विकिरण की ऊर्जा=`hv=(hc)/(lambda)` <br> `=((6.626xx10^(-34))xx(3.0xx10^(8)))/(256.7xx10^(-9))J` <br> `=7.74xx10^(-9)`J <br> `=4.83 eV (`:'` 1 eV=1.6021xx10^(-19)" J")` <br> फोटोइलेक्ट्रॉन की गतिज ऊर्जा=उत्सृजन को रोकने के लिए लगाया गया विभव <br> `=0.35 eV` <br> `:.` आपतित विकिरण की ऊर्जा=कार्यफलन+फोटोइलेक्ट्रॉन की गतिज ऊर्जा <br> `:.` कार्यफलन `(W_(0))` <br> =आपतित विकिरण की ऊर्जा-फोटोइलेक्ट्रॉन की गतिज ऊर्जा <br> `=(4.83-0.35) eV` <br> `=4.48 eV`

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

नमस्कार दोस्तों साथ करता हूं आप सभी का आप का प्रश्न है प्रकाश विद्युत प्रभाव प्रयोग में सिल्वर धातु से फोटो इलेक्ट्रॉन का उत्सर्जन 30035 इलेक्ट्रॉन की वोल्टता द्वारा रोका जा सकता है जब 256.7 नैनोमीटर के वितरण का उपयोग किया जाता है तो सिल्वर धातु के कार्यक्रम की गणना कीजिए ठीक है ना तो आइए हम कॉल करते हैं तथा अपने प्रश्न के उत्तर को निकालते हैं ठीक तो जैसा कि हम से स्पष्ट में क्या पूछ रहा है कार्य फलन ठीक है कार्यशाला को जो हम होता है इसको हम डब्लू नोट से प्रदर्शित करते हैं ठीक है ना ठीक कार प्लांट क्या होता है हमारे किसी भी धातु की सतह से किसी भी इलेक्ट्रॉन को बाहर निकालने के लिए जितनी ऊर्जा की आवश्यकता होती है उसका कार्य फलन कहती है कि किस प्रकार से प्रभावित होता है तथा जब भी कोई सताए पर यदि हमारा विक्रम गिरता है ठीक है जैसे कि हमारे यह मान लेते हैं पता है इस पर हमारे ही विक्रांत

ठीक तो इसमें जो इलेक्ट्रॉन होगा पहले तो यह आपने कार्यक्रम के बराबर ऊर्जा को ग्रहण करेगा ताकि वह यहां से धातु की सतह से निकल सके ठीक है धातु है या मारा विकिरण है तथा अजित और जितनी भी उठ जाइए यहां पर अपनी सतत धातु की सतह से निकलने के लिए प्राप्त कर लेता है उसे धाकड़ फिल्म कहते हैं श्रेष्ठ ऊर्जा इसकी अवशोषित होने के बाद बचती है ठीक वह हमारी इसकी गतिज ऊर्जा के रूप में परिवर्तित हो जाती है ठीक है गतिज ऊर्जा अर्थात की कार्य फलन के अतिरिक्त जितनी ऊर्जा होगी उसकी गतिज ऊर्जा में सहायता करती है ठीक है अर्थात जो विकिरण की कुल ऊर्जा होगी ठीक है ना तो आप तेज किरण की ऊर्जा हमारे बराबर हो गई आप ठीक है ना आप तेज किरण की ऊर्जा में किसकी किसके बराबर हो जाएगी यह बराबर होगी हमारे कार्य फलन कार्य फलन तथा गतिज ऊर्जा के योग के बराबर होगी

यह जो हमारी कुल ऊर्जा आई थी विक्रम कि वह हमारी पहले तो एक कार्यक्रम में प्रयुक्त हो गई उसके बाद जितनी भी बच्चे वह गतिज ऊर्जा के रूप में प्रयुक्त हो गई ठीक है ना इस प्रकार से यह इससे यह हमारे एक संबंध बनाता है यहां पर ठीक है ना तो आप पहले हम देखते हैं कि जैसे कि कितने यहां पर तरंग दर्द की के विकर्ण का प्रयोग किए गए 256.7 नैनोमीटर ठीक है इसकी सहायता समाप्त किरण की जो ऊर्जा है उसको ज्ञात कर लेते हैं और जैसा कि हमें यहां पर दिया है कि की फोटो इलेक्ट्रॉन का उत्सर्जन कितने इलेक्ट्रॉन वोल्ट की बोलता द्वारा रोका जा सकता है दशमलव 35 इलेक्ट्रॉन बोल्ट तो इसका क्या मतलब है कि जितनी ऊर्जा उसके पास है गतिज ऊर्जा के रूप में वह इतने समय 35 इलेक्ट्रॉन वोल्ट बराबर होगी 1.35 इलेक्ट्रॉन वोल्ट क्रेता द्वारा इस को रोका जा सकता है ठीक है ना तो आइए स्कूल लिख लेते हैं तो कॉल करते हैं तो हमारा जो पहले आप किरण की ऊर्जा है वह निकाल लेते हैं ना ठीक है

आपने तो विक्रण की उर्जा बराबर आपतित विकिरण कितना विकिरण की उर्जा बराबर होगी हमारी ठीक है यह हमारी होती है बराबर एक्शन यूके यूके होती तो ऐसा हमारा प्लांक नियतांक होता है वजन नहीं होता एक अपना वृत्ति होती है ठीक है इसको जी धाम परिवर्तित कर लेते हैं तो न्यू बराबर हो तो बस्ती बठिंडा ठीक ना तो उसी जहां पर हमारा प्रकाश की चाल है ठीक है प्रकाश की चाल होती है तथा जो लौंडा है वह हमारी तरंग दर्द होती है ठीक है तरंग किस प्रकार सहयोग करेंगे वहां पर ऊर्जा का प्लांट नेताओं का मान होता वह तुम्हारे 6.62 6 * 10 की घात - 24 जून सेकंड शिफ्ट तथा में प्रकाश की चाल में कितने बजे 3 * 10 की घात 8 मीटर प्रति सेकंड के मात्र लिख लेते हैं

ताकि हमें यहां पर इसके मात्रक भी निकालने में आसानी रहेगी तथा जो लौंडा हमें दिया यहां पर कितना दिया है 500 केजी का 256.7 नैनोमीटर ठीक 200 लीटर बराबर में 256.7 नैनोमीटर तो उसका मित्र परिवर्तित कर लेते थे वह मारा गया हो जाएगा 256.7 * 10 की घात - 9 मीटर के ठीक है ना यहां पर हम रख लेते हैं ठीक है 256.7 * 10 की घात - हमारे मीटर में था किस प्रकार से हो जाएगा तो आवेश का मात्रक भी देख लेते हैं 3 मीटर से मीटर कट जाएगा तथा प्रति सेकेंड से हमारा यह सेकंड कट जाएगा जो मां हमारे यहां पर जो आपसे टूट जाएगी 29 मई की जून में ठीक है तो जब हम इसको हल करते हैं तो हल करने पर इस का मान हमारा आ जाता है यहां पर 7.74 * 10 की घात - 19 जून ऊर्जा जाती है तथा अब हम इसको जून को जो है इलेक्ट्रॉन गोल्ड में परिवर्तित कर लेते हैं

क्योंकि यहां पर जो हमारी जो गतिज ऊर्जा हमें प्राप्त दी गई है परसों किसने इलेक्ट्रॉन कोर्ट में क्योंकि जो हमारा एक इलेक्ट 1 वोल्ट बराबर होता है उसको तो एक दिसंबर 6 * 10 की घात - 19 जून के ठीक है अर्थात जो हमने उसमें जो झूल को जब इलेक्ट्रॉन वोल्ट में परिवर्तित करेंगे तो उसमें हम 1.6 * 10 की घात - 19 को भाग कर दें अर्थात एक जूल बराबर कितना होगा 1 बटा 1.6 * 10 की घात - इलेक्ट्रॉन बोल ठीक है ना सर था उसको वहां पर हल कर लेते हैं प्रवर्तक कर लेते हैं चोर को इलेक्ट्रॉन वोल्ट में ठीक है तो यहां पर हम इसको 1.6 * 10 की घात - 19 ए जब भाग करते हैं तो हमारे इसका जो बनाता है बनाता है तहलका ने पर सामान आया था 4.83 इलेक्ट्रॉन वोल्ट ठीक है ना किस प्रकार से हमारे आप तेज किरण की कुल ऊर्जा हमारी कितनी हो गई बराबर हो जाती है 4.83 इलेक्ट्रॉन वोल्ट तथा आप जैसा क्या में प्रश्न

दिया है कि जो गतिज ऊर्जा है वह माता बराबर किसकी थी उत्सर्जन रोकने के लिए लगाया गया विभव ठीक है की फोटो इलेक्ट्रॉन फोटो इलेक्ट्रॉन की गतिज ऊर्जा बराबर की गतिज ऊर्जा बराबर है हमारी उत्सर्जन को रोकने के लिए लगाया वैभव सर्जन को रोकने रोकने के लिए लिए लगा विभव ठीक है अर्थात जो विवाह में प्रयुक्त किया 11.35 इलेक्ट्रॉन वोल्ट ठीक है अर्थात गतिज ऊर्जा मार्केट या जाति यहां पर तो सब लोग 35 इलेक्ट्रॉन बोल्ट आ गई ठीक है ना तो अब हम यहां पर यह नंबर 1 दे देते हैं इसको हम समीकरण नंबर तो दे देते हैं तथा जो यह हमारी मुख्य जो सूत्र है उसको हम समीकरण नंबर

यह दे देते हैं ठीक है ना समीकरण 12 से समीकरण इसको प्रयुक्त करते हैं ठीक है तो हमारा क्या होगा उर्जा बराबर ठीक है कि विकिरण ऊर्जा विकिरण उर्जा बराबर है हमारे कार्य फलन का कार्य फलन प्लस गतिज ऊर्जा के तो हमने जो मां निकाले हैं उनको यहां पर देते हैं ठीक है तो जो हमारा विकिरण ऊर्जा है वह कितनी थी 4.83 इलेक्ट्रॉन वोल्ट बराबर हमारे कार्यकर्ता डब्लू नोट प्लस गतिज ऊर्जा में 35 इलेक्ट्रॉन वोल्ट ठीक है ना तो जब डब्लू नॉट डालना है तो हमारा होगा 4.83 - 4.351 टन बोर्ड के ठीक है अर्थात इसको जब हवन करते तुम्हारे कार्यशाला का

प्लॉट बराबर हमारा जाता हल करने पर 4.48 इलेक्ट्रॉन 4.48 इलेक्ट्रॉनिक वोट देना इस प्रकार से हमें पूर्ण होता है आशा करता हूं आप सभी को समय होगा धन्यवाद

संबंधित वीडियो

Show More
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details